Sandese Aate Hain Lyrics Song | Border | Independence Day Special | Best Patriotic Hindi Song | Sonu Nigam & Roop Kumar Rathod

हो हो हो…
संदेसे आते हैं
हमें तड़पाते हैं
तो चिट्ठी आती है
वो पूछे जाती है
के घर कब आओगे
के घर कब आओगे
लिखो कब आओगे
के तुम बिन ये घर सूना सूना है
संदेसे आते हैं
हमें तड़पाते हैं
तो चिट्ठी आती है
वो पूछे जाती है
के घर कब आओगे
के घर कब आओगे
लिखो कब आओगे
के तुम बिन ये घर सूना सूना है
किसी दिलवाली ने
किसी मतवाली ने
हमें खत लिखा है
ये हमसे पूछा है
किसी की साँसों ने
किसी की धड़कन ने
किसी की चूड़ी ने
किसी के कंगन ने
किसी के कजरे ने
किसी के गजरे ने
महकती सुबहों ने
मचलती शामों ने
अकेली रातों में
अधूरी बातों ने
तरसती बाहों ने
और पूछा है तरसी निगाहों ने
के घर कब आओगे
के घर कब आओगे
लिखो कब आओगे
के तुम बिन ये दिल सूना सूना है
संदेसे आते हैं
हमें तड़पाते हैं
तो चिट्ठी आती है
वो पूछे जाती है
के घर कब आओगे
के घर कब आओगे
लिखो कब आओगे
के तुम बिन ये घर सूना सूना है
मोहब्बत वालों ने
हमारे यारों ने
हमें ये लिखा है
के हमसे पूछा है
हमारे गाँवों ने
आम की छांवों ने
पुराने पीपल ने
बरसते बादल ने
खेत खलियानों ने
हरे मैदानों ने
बसंती बेलों ने
झूमती बेलों ने
लचकते झूलों ने
दहकते फूलों ने
चटकती कलियों ने
और पूछा है गाँव की गलियों ने
के घर कब आओगे
के घर कब आओगे
लिखो कब आओगे
के तुम बिन गाँव सूना सूना है

संदेसे आते हैं
हमें तड़पाते हैं
तो चिट्ठी आती है
वो पूछे जाती है
के घर कब आओगे
के घर कब आओगे
लिखो कब आओगे
के तुम बिन ये घर सूना सूना है
ओ ओ ओ…
कभी एक ममता की
प्यार की गंगा की
जो चिट्ठी आती है
साथ वो लाती है
मेरे दिन बचपन के
खेल वो आंगन के
वो साया आंचल का
वो टीका काजल का
वो लोरी रातों में
वो नरमी हाथों में
वो चाहत आँखों में
वो चिंता बातों में
बिगड़ना ऊपर से
मोहब्बत अंदर से
करे वो देवी माँ
यही हर खत में पूछे मेरी माँ
के घर कब आओगे
के घर कब आओगे
लिखो कब आओगे
के तुम बिन आँगन सूना सूना है

संदेसे आते हैं
हमें तड़पाते हैं
तो चिट्ठी आती है
वो पूछे जाती है
के घर कब आओगे
के घर कब आओगे
लिखो कब आओगे
के तुम बिन ये घर सूना सूना है
ऐ गुजरने वाली हवा बता
मेरा इतना काम करेगी क्या
मेरे गाँव जा
मेरे दोस्तों को सलाम दे
मेरे गाँव में है जो वो गली
जहाँ रहती है मेरी दिलरुबा
उसे मेरे प्यार का जाम दे
उसे मेरे प्यार का जाम दे

वहीं थोड़ी दूर है घर मेरा
मेरे घर में है मेरी बूढ़ी माँ
मेरी माँ के पैरों को छू के तू
उसे उसके बेटे का नाम दे
ऐ गुजरने वाली हवा ज़रा
मेरे दोस्तों
मेरी दिलरुबा
मेरी माँ को मेरा पयाम दे
उन्हें जा के तू ये पयाम दे
मैं वापस आऊंगा
मैं वापस आऊंगा
घर अपने गाँव में
उसी की छांव में
कि माँ के आँचल से
गाँव के पीपल से
किसी के काजल से
किया जो वादा था वो निभाऊंगा
मैं एक दिन आऊंगा
मैं एक दिन आऊंगा
मैं एक दिन आऊंगा
मैं एक दिन आऊंगा
मैं एक दिन आऊंगा
मैं एक दिन आऊंगा
मैं एक दिन आऊंगा
मैं एक दिन आऊंगा 
——————————–
Ho Ho Ho…
sandese aate hain
hamen tadapaate hain
to chitthee aatee hai
vo poochhe jaatee hai
ke ghar kab aaoge
ke ghar kab aaoge
likho kab aaoge
ke tum bin ye ghar soona soona hai

sandese aate hain
hamen tadapaate hain
to chitthee aatee hai
vo poochhe jaatee hai
ke ghar kab aaoge
ke ghar kab aaoge
likho kab aaoge
ke tum bin ye ghar soona soona hai

kisee dilavaalee ne
kisee matavaalee ne
hamen khat likha hai
ye hamase poochha hai
kisee kee saanson ne
kisee kee dhadakan ne
kisee kee choodee ne
kisee ke kangan ne
kisee ke kajare ne
kisee ke gajare ne
mahakatee subahon ne
machalatee shaamon ne
akelee raaton mein
adhooree baaton ne
tarasatee baahon ne
aur poochha hai tarasee nigaahon ne
ke ghar kab aaoge
ke ghar kab aaoge
likho kab aaoge
ke tum bin ye dil soona soona hai
sandese aate hain
hamen tadapaate hain
to chitthee aatee hai
vo poochhe jaatee hai
ke ghar kab aaoge
ke ghar kab aaoge
likho kab aaoge
ke tum bin ye ghar soona soona hai
mohabbat vaalon ne
hamaare yaaron ne
hamen ye likha hai
ki hamase poochha hai
hamaare gaanvon ne
aam kee chhaanvon ne
puraane peepal ne
barasate baadal ne
khet khaliyaanon ne
hare maidaanon ne
basantee belon ne
jhoomatee belon ne
lachakate jhoolon ne
dahakate phoolon ne
chatakatee kaliyon ne
aur poochha hai gaanv kee galiyon ne
ke ghar kab aaoge
ke ghar kab aaoge
likho kab aaoge
ke tum bin gaanv soona soona hai

sandese aate hain
hamen tadapaate hain
to chitthee aatee hai
vo poochhe jaatee hai
ke ghar kab aaoge
ke ghar kab aaoge
likho kab aaoge
ke tum bin ye ghar soona soona hai

Ho Ho Ho…

kabhee ek mamata kee
pyaar kee ganga kee
jo chitthee aatee hai
saath vo laatee hai
mere din bachapan ke
khel vo aangan ke
vo saaya aanchal ka
vo teeka kaajal ka
vo loree raaton mein
vo naramee haathon mein
vo chaahat aankhon mein
vo chinta baaton mein
bigadana oopar se
mohabbat andar se
kare vo devee maan
yahee har khat mein poochhe meree maan
ke ghar kab aaoge
ke ghar kab aaoge
likho kab aaoge
ke tum bin aangan soona soona hai

sandese aate hain
hamen tadapaate hain
to chitthee aatee hai
vo poochhe jaatee hai
ke ghar kab aaoge
ke ghar kab aaoge
likho kab aaoge
ke tum bin ye ghar soona soona hai
ai gujarane vaalee hava bata

mera itana kaam karegee kya

mere gaanv ja

mere doston ko salaam de

mere gaanv mein hai jo vo galee

jahaan rehatee hai meree dilaruba

use mere pyaar ka jaam de

use mere pyaar ka jaam de


vaheen thodee door hai ghar mera

mere ghar mein hai meree boodhee maan

meree maan ke pairon ko chhoo ke too

use usake bete ka naam de

ai gujarane vaalee hava zara

mere doston

meree dilaruba

meree maan ko mera payaam de

unhen ja ke too ye payaam de


main vaapas aaoonga

main vaapas aaoonga

ghar apane gaanv mein

usee kee chhaanv mein

ki maan ke aanchal se

gaanv kee peepal se

kisee ke kaajal se

kiya jo vaada tha vo nibhaoonga


main ek din aaoonga
main ek din aaoonga
main ek din aaoonga
main ek din aaoonga
main ek din aaoonga
main ek din aaoonga
main ek din aaoonga
main ek din aaoonga
Short Information For This Song 
Movie : Border 
Singer’s : Sonu Nigam & Roop Kumar Rathod 
Music : Anu Malik 
Lyrics : Javed Akhtar
Director : J P Dutta 
Release date : 13 June 1997

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *